CG4भड़ास.com में आपका स्वागत है Welcome To Cg "Citizen" Journalism.... All Cg Citizen is "Journalist"!

Website templates

Saturday, October 31, 2009

जनता के पैसे पर नेतावो का उत्सव

हैप्पी बर्थ डे "छत्तीसगढ", आज "हमर छत्तीसगढ" ९ साल पूरा कर 10 वे साल में कदम रखेगा. फिर एक बार राजन का परचम लहराएगा, फिर ए़क बार बखानो का पुलिंदा पकडा दिया जायेगा, फिर ए़क बार राज्य के घरो में अँधेरा कर कोठियों को प्रजव्लित किया जायेगा, फिर ए़क बार बाहर से आये महानुभाओं का हम सत्कार करेगे और उपकार सुनेगे, फिर एक बार खेल के मैदानों को गढढो में तबदील कर छोड़ दिया जायेगा, फिर ए़क बार 2.5 करोड़ जनता इसकी तमाश बीन बनेगी. इस तरह आज से छतीसगढ में स्थापना दिवस का ऊलास परवान चढेगा, सात दिन का उत्सव सात करोड़ खर्च और सात महीने से सरकारी कर्मचारी का काम बंद, यही दांस्ता है छग राज्योत्सव की...........
सारांश यहाँ आगे पढ़ें के आगे यहाँ
http://bhadas4cg.com

Tuesday, October 20, 2009

खुद को कंगाल कर के आप बना रहे है सबको करोड़ पति




अभी तक आपने कौन बनेगा करोड़ा पति , फिर दस का दम , और अब सच का सामना जैसे बहुत से धनवान बनाने वाले कार्यक्रम देखे होगे. और सब की धुरी भी अर्थ ही है मतलब पैसा, जी हां हम सभी के मन में ये चाह अंकुरित होते रहती है .. की हम भी करोड़ पति बन जाये ..अब सुनिए एक और सच की आप और हम सभी बना रहे है करोड़ पति ..., करोड़ पति नहीं बल्कि दुनिया का सबसे धनि व्यक्ति जी हा हम ही बनाने जा रहे है दुनिया का सबसे धनि व्यक्ति. वर्ष २०१० में दुनिया का सबसे धनि कौन होगा आपके मन में यह सवाल आ ही गया होगा तो सुन लीजिये ऑरकुट का जनक उनका नाम है आरकुट ब्युक्कोटन वही उसके पिता है जो बनने जा रहे है दुनिया का सबसे धनी व्यक्ति वो भी अपनी कम मेहनत और आपके ज्यादा सहयोग से. चौकिये मत आपके बूते और भी बहुत लोग चांदी काट रहे है और आप इंटरनेट का बिल भुगतान कर रहे है. ये लिखते समय ही एक इंटरनेट मित्र से मेरी बात हुई जिसमे उन्होंने बहुत ही विनम्रता से ये बात कही " मेरे पास ब्राड बैंड पल्स का प्लान है जिसमे १ जीबी स्पेस ही फ्री है सो रात में देखुगा. मतलब हम किस तरह अपनी सामर्थ से खुद की चादर के अपुरूप इंटरनेट का उपयोग कर के भी किसी को धनि बना रहे है. जितने लेख और आलेख इन ब्लाग और इंटरनेट के साधनों में उपलब्ध है उसे वैलुबली मापे तो लाखो रु के होगे क्यों की एक आलेख १००० रु के भी जोड़े जो मैगजीन या अख़बार से मिलता है तो भी इनकी कीमत का अंदाजा आप खुद लगा सकते है की ये कितने के है. ये तो हुई आलेख या ब्लाग में रखे मटेरियल की बात अब अगर हम उसके संचालक और संचालन पर नजर डाले तो पायेगे की जितना आप महीने के इंटनेट का बिल भरते है उससे कही ज्यादा आपके सर्फिंग या मात्र रजिस्ट्रेशन से उन्हें मिल जाता है वो भी एक दिन में जरा इन आकडो पर गौर करे ...
गूगल आरकुट ब्युक्कोटन को,प्रत्येक व्यक्ति रजिस्ट्रेशन के १२ डाँलर भुगतान करता है वही किसी व्यक्ति को मित्र बनाने पर १० डाँलर ८ डाँलर का भुगतान किया जाता है जबकि कोई मित्र के जरिये मित्र बनता है तो ५ डाँलर जब आप किसी को स्क्रेप भेजते है या कोई आपको स्क्रेप भेजता है तो ४ डाँलर प्रति व्यक्ति के हिसाब से गूगल ऑरकुट को भुगतान करता है बात यही ख़त्म नहीं होती २०० डाँलर प्रति फोटो डाऊनलोड के ,१.५ डाँलर जब कोई किसी को फैन बनता है , हांट लिस्ट में स्थान देने पर २.५ डाँलर. इसी तरह लांग आउट करने के १ डालर और स्क्रेप पढने और सूचि देखने के लिए ०.५ डाँलर अब आप सोचिये . ठीक इसी तरह फेस बुक से लेकर हर वो साधन जो इंटरनेट में चलाये जा रहे है फिर वो याहू हो गूगल या hi5 या फिर कोई अन्य सभी में कमाई की जा रही है और माध्यम आप है. आप फिर चाहे ब्लाग उपयोग करते है या फिर कोई भी इंटरनेटीय संसाधन सभी में आपकी ही मेहनत से करोड़ पति बनाने की कवायद में लोग जुटे है . जहा तक मुझे याद है आरकुट में मित्र बनाने - बनने के आलावा ऐसा कुछ और नहीं है जिससे उपयोग कर्ता को फायदा पहुचे और मित्र भी ऐसे जिनके नाम ही गलत होते है जैसे लड़की का नाम और बनाने वाल लड़का . अब आप ही बताइए ऐसे मित्र बना के किसे फायद पहुचेगा। तो आप बना रहे है ना दुनिया का सबसे धनी व्यक्ति वो भी खुद को कंगाल कर के ......आये दिन ऐसे नए प्रयोगों से मेल लदे पड़े रहते है जिन्हें इजात कर इंडिया में छोड़ दिया जाता है टेस्टिंग के लिए

Saturday, October 17, 2009

घी के दीये जलावो, जहरीली मिठाई खावो

बहुत पहले की एक धार्मिक कहानी याद आती है की शिर्डी के साई बाबा ने अपनी अलौकिक शक्ति के माध्यम से पानी के दीये जलाये थे....,जगमगा उठी थी शिर्डी ... निश्चित ही बाबा का यह चमत्कार उस वक्त हुआ था जब लोग निराश थे ना धी था और ना इतने पैसे, तब लोगो की खुशियों को बरक़रार रखने के लिए बाबा ने यह चमत्कार किया था ताकि दीवाली के दिन लोग उमंग से भरे रहे बाबा का यह काम चमत्कारी नहीं कल्याणकारी था
आप सभी को दीपावली की शुभकामनाये सहि
सारांश यहाँ आगे पढ़ें के आगे यहाँ
http://bhadas4cg.com

सारांश यहाँ आगे पढ़ें के आगे यहाँ

Wednesday, October 14, 2009

धनतेरस - धनवंतरी, रमन का जन्म दिवस - मणिकांचन संयोग


धनतेरस धनवन्तरि जयंती और जन्म दिन सौभाग्यवश ये तीनो एक ही दिन पड़े है धनतेरस की मान्यता पर जाये तो दीपावली से दो दिन पहले मनाया जाने वाला ये त्यौहार धनवन्तरि से जुडा है जिस प्रकार देवी लक्ष्मी सागर मंथन से उत्पन्न हुई थी उसी प्रकार भगवान धनवन्तरि भी अमृत कलश के साथ सागर मंथन से उत्पन्न हुए हैं.
देवी लक्ष्मी धन की देवी हैं परन्तु उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए आपको स्वस्थ्य और लम्बी आयु भी चाहिए यही कारण है दीपावली से दो दिन पहले ही, यानी धनतेरस से ही दीपामालाएं सजने लगती हें.त्रयोदशी तिथि के दिन ही धन्वन्तरि का जन्म हुआ था इसलिए इस तिथि को धनतेरस के नाम से जाना जाता है. लेकिन आज का दिन एक और मायने से खास है जी हा आज छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री का जन्म दिन है वे आज अपना ५७ वा जन्म दिन मनायेगे

सारांश यहाँ आगे पढ़ें के आगे यहाँ
http://bhadas4cg.com/

Monday, October 12, 2009

किसको करूँ वोट


हरियाणा  में कल  चुनाव हैं ,और मुझे  समझ नहीं आ रहा की मैं वोट देने जाऊँ या नहीं . अब इस मसले में २ बातें हैं .पहली तो ये की कुछ महीने  पहले  ही  मैं  रेडियो में  वोट देने के लिए लोगों का ईमान जगा रहा था ,और दूसरा ये की मेरे चुनाव-क्षेत्र में मुझे कोई ऐसा उमीदवार नहीं दिखता की मैं उसे वोट दूँ .दूसरी बात के लिए मैं कहना चाहूँगा की उमीदवार जरुर है पर जिस  पार्टी की वो उमीदवार हैं वो पार्टी प्रदेश में अंग्रेजी गाने नहीं बजेनी देगी अगर वो सता में आती है तो .
वैसे जिस पार्टी की मैं बात कर रहा हूँ उसका हरियाणा की सत्ता में आना मुमकिन ही नहीं नामुमकिन है .फिर भी इस पुरे वाकया ने मेरे साथ अछी खासी गड़बड़ कर दी है .अब वो बात जो मैंने पहले की थी की मैंने वोटर्स का ईमान जगाया था ,और आज मैं  खुद ही मुश्किल में हूँ की वोट करूँ या नहीं .वैसे हरियाणा  में  इस  बार  जनमत  बहुत साफ़   नज़र आ  रहा  है .

इस बार के चुनावों में सत्ताधारी दल के खिलाफ कोई भी ,विपक्षी दल मजबूत  नहीं दिख रहे हैं .मुख्यमंत्री हूडा  ने बेशक कुछ जगह काफी अच्छा  काम किया है पर कहीं जगह वो अपनी  कुछ बड़ी और बहुपर्तिक्षित परियोजनाओं को पूरा नहीं कर पाए या कहें तो अमलीजामा नहीं पहना पाए .सोनीपत में बन रही राजीव गाँधी एजूकेशन सिटी  ४ साल में भी सिर्फ २ कदम ही चल पायी .साथ ही साथ वर्तमान सरकार बिजली के मुद्दे पर अपनी वाही वाही लूटना चाह रही है पर सचाई तो ये है की जो भी बिजली हरियाणा  में बनेगी उसका आधा हिस्सा तो  दिल्ली  को जायेगा .
....................
कांग्रेस के अलावा किसी भी राष्ट्रीय   दल का हरियाणा में जनाधार  नहीं है. हरियाणा में आया राम गया राम और गठबंधन राजनीती  बहुत रही है .और गठबंधन राजनीती न तो सफल रही है ना ही बहुत साफ़ सुथरी .और इसका नतीजा न केवल जनता बल्कि खुद उन दलों को भी भुगतनी पड़ी जो सत्ता में थे .पिछले सत्ता समय में इनेलो के करता धर्ताओं ने कुछ ऐसे काम किये की उनके खुद के लोग भी उनसे अलग हो गए .और जहाँ तक जनता की बात है तो जनता तो नाराज़ हो ही गयी .और इस बार भी इनेलो के साथ कुछ अच्छा होता नज़र नहीं आ रहा .वहीँ दूसरी तरफ भजनलाल की पार्टी हंज्का शायद अपने परिवार के दम पर १-२ सीट ले जाये तो  बहुत बड़ी बात होगी .
सुमित

अपने ब्लॉग पर पेज नंबर लगाइए


Send free text messages!
Please enter a cell phone number:

NO Dashes - Example: 7361829726

Please choose your recipient's provider:

Free SMS

toolbar powered by Conduit

Footer

  © Blogger template 'Tranquility' by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP